बाइनरी ऑप्शन्स ट्रेडिंगकी गतिमान दुनिया में, कुछ भी महत्वहीन नहीं समझा जा सकता है। मूल्यों में लगातार उतार-चढ़ाव, बाज़ार के अस्पष्ट पूर्वानुमान और अनगिनत ट्रेडिंग कार्यनीतियों ने बाइनरी ऑप्शन्स ट्रेडिंग को शुरुआत करने वालों के लिए डरावना बना दिया है।binary options

लेकिन, कुछ चीजों का वादा हैं जो ट्रेड में सहायता करेंगी चाहे उनका ट्रेडिंग अनुभव कुछ भी हो: विस्तृत बाज़ार विश्लेषण के साथ Price Action बाइनरी कार्यनीति का संयोजन कभी असफल नहीं होता।

हालांकि जिस आस्ति में आप ट्रेड कर रहे हैं उसे प्रभावित करने वाले बाह्य कारकों के प्रति जागरूक होना महत्वपूर्ण है, लेकिन समय के साथ कीमत में बदलावों का विश्लेषण किए बिना एक सफल ट्रेडिंग सत्र कभी क्रियान्वित नहीं किया जा सकता।

देखिए Price Action बाइनरी ऑप्शन्स कार्यनीति कब सामने आती है!

Price Action बाइनरी ऑप्शन्स कार्यनीति का प्रयोग करके, आप, एक ट्रेडर के तौर पर अपने सभी निवेश के निर्णय एक साधारण मूल्य चार्ट के आधार पर लेते हैं जिसमें औसत बदलाव, दोलन या गति संकेतक जैसे अध्ययन शामिल नहीं हैं।

इसीलिए, इसका प्रयोग कारले ट्रेड लगाने के लिए, आपको एक ऐसा मूल्य चार्ट चाहिए होगा जिसमें आप विशेष समयावधि में बदलाव कर सकें।

इस प्रक्रिया में प्रयोग किए जाने वाले चार्ट बार चार्ट से लेकर केंडलस्टिक चार्ट तक कुछ भी हो सकते हैं; जब तक वे स्पष्ट और प्रयोग में आसान हैं और वे केवल समय के अनुसार मूल्य बदलाव ही दिखाते हैं, वे अच्छा काम कर सकते हैं।

Price Action बाइनरी ऑप्शन्स कार्यनीति को दूसरों से अलग बनती है इसकी सरलता। इसकी मुख्य खूबी है: इसके सुव्यवस्थित चार्ट्स जो प्रयोग में सान और नए लोगों के लिए सहज हैं। इसलिए लगभग वे सभी लोग इसे प्रयोग करने का सुझाव देते हैं जो बाइनरी ऑप्शन्स में ट्रेडिंग कर मुनाफा कमाना चाहते हैं।

यह कार्यनीति कई समयावधियोंका विश्लेषण कर अलग-अलग परिप्रेक्ष्य से परिस्थिति की जांच करने में आपको सक्षम बनाती है जिससे यह कार्यनीति और भी बेहतर हो जाती है।.

एक 15 मिनट की समाप्ति अवधि में ट्रेड करते हुए 60 मिनट, 240 मिनट के साथ- साथ दैनिक चार्ट का विशेषण करने से मुनाफा कमाने और ट्रेड को ‘in the money’ स्थिति पर बंद करने की संभावनायेँ बढ़ जाती हैं। ऐसा करके, आप कई समय क्षेत्रों में मूल्य बदलावों को समझ सकते हैं और इस प्रकार खुद को लाभप्रद निर्णय लेने में सक्षम बनाते हैं।

binary options tradingलेकिन, यद्यपि कि विश्लेषण करना बहुत महत्वपूर्ण हो सकता है, ज़रूरत से ज़्यादा विश्लेषण प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है। सभी समयावधियों का अध्ययन करना न केवल अधिक समय लेता है बल्कि अनुत्पादक भी है! यह आपको जोखिमों से जरूरत से ज्यादा भयभीत कर देता है और इस प्रकार आप को कोई भी कदम उठाने से डराता है।

समझदारी से, सही संतुलन बनाना मुश्किल है, खास तौर पर नए लोगों के लिए क्योंकि वे आसानी से लक्ष्य से भटक जाते हैं! इसका समाधान है कि एक स्पष्ट दृष्टिकोण रखकर इसे अपनाया जाए। Price Action बाइनरी ऑप्शन्स कार्यनीति कुछ और नहीं बस बाइनरी ट्रेडिंग सफलता में आओकी सहायक है।

यह सब कुछ जानने के बाद, केवल Price Action बाइनरी कार्यनीति को वास्तवित जीवन में आजमाना ही बाकी रह जाता है। चार्ट्स को देखें, ऐतिहासिक आंकड़ों को ध्यान में रखें, और आधारभूत विश्लेषण से एकत्रित सभी आंकड़े नज़र में रखें और निवेश करें! अच्छे की आशा रखें पर रखें कि सभी परिणाम ‘in the money’ या धन जीतने वाले नहीं हो सकते, और यह बिलकुल सही है।

कोई भी, यहाँ तक वर्षों के अनुभव वाले सर्वोत्तम ट्रेडर भी हमेशा नहीं जीतते। इसीलिए अपने हारे हुए धन के लिए खुद को न कोसें। बल्कि, सुधार करने और अपनी ग़लतियों से सीखने पर ध्यान दें, क्योंकि अंत में बाइनरी ऑप्शन्स की दुनिया “”आप थोड़ा खोते हैं, आप कहींअधिकपाते हैं”” के चारो ओर घूमती है।”

Click here to get this post in PDF