बहुत ही कठिन नाम होने के बावजूद, Parabolic SAR औसत विचलन का एक एनालॉग है। इसका प्रयोग पूर्व में कीमतों के औसत की गणना करने के लिए किया जाता है और यह आने वाले बदलावों का अनुमान लगाने में भी मदद कर सकता है। यह एक बिंदीदार रेखा (नीले बिन्दु) द्वारा दर्शाया जाता है।जब यह बिन्दुदार रेखा मूल्य कार्ट के नीचे स्थित होती है तो इसका मतलब है कि मार्केट में UP ट्रेंड चल रहा है (मूल्य बढ़ रहा है) और जब यह मूल्य चार्ट पर ऊपर स्थित होती है, तो मतलब यह है कि मार्केट में DOWN ट्रेंड चल रहा है (मूल्य कम हो रहा है)। इसके बारे में जान कर आप Parabolic SAR सूचक का प्रयोग अपनी ट्रेडिंग में कर सकते हैं।

binary trading

इस कार्यनीति की विशेषताएँ:

  • प्रयोग करने में आसानी
  • केवल एक मानक सूचक आवश्यक है
  • सूचक द्वारा ही संकेत जाते हैं
  • प्रणाली बहुत साधारण और समझने में आसान है
  • ट्रेडिंग करने के लिए बहुत तैयारी की आवश्यकता नहीं होती
  • कोई भी करेंसी जोड़ा और समयावधि चुनी जा सकती है

संकेत प्राप्त करना

Parabolic SAR बखूबी प्रवेश बिन्दु दर्शाता है।

अगर मूल्य चार्ट बिन्दुदार रेखा को काटता है (उदाहरण के लिए ऊपर से नीचे), तो Parabolic उल्टा हुआ है और उल्टी तरफ से दिखाया जा रहा है (चार्ट केनीचे)। इसलिए, सूचक का उलटना इस बात का संकेत है कि या तो ट्रेंड समाप्त होने वाला है या उलटने वाला है (उदाहरण के लिए, अगर यह बढ़ रहा है तो अब यह घटाने वाला है)।

निम्न समयावधियों का प्रयोग करें:

केंडल समयावधि  – 5 मिनट = ट्रेडिंग समय– 5 मिनट

केंडल समयावधि– 15 मिनट = ट्रेडिंग समय – 15 मिनट

“UP” ट्रेड लगाना

आपको तब UP ट्रेड लगानी चाहिए जब केंडलस्टिक के नीचे स्थित बिन्दु केंडलस्टिक के ऊपर स्थित बिन्दु से विस्थापित कर दिया जाए और सूचक चार्ट के नीचे दिखाई देने लगे।

ट्रेड में बदलाव के बाद पहले बिन्दु पर ध्यान देना चाहिए।

दूसरे बिन्दु को चुने हुए वित्तीय लिखत में UP ट्रेड करने के लिए संकेत के रूप में देखा जाना चाहिए।

binary options trading

“DOWN” ट्रेड लगाना

आपको DOWN ट्रेड लगानी चाहिए जब केंडलस्टिक के ऊपर स्थित बिन्दु केंडलस्टिक के नीचे स्थित बिन्दु को विस्थापित कर दे और सूचक चार्ट के ऊपर दिखाई देने लगे।

ट्रेड में बदलाव के बाद पहले बिन्दु पर ध्यान देना चाहिए।

दूसरे बिन्दु को चुने हुए वित्तीय लिखत में DOWN ट्रेड करने के लिए संकेत के रूप में देखा जाना चाहिए।

binary trading india

OLYMP TRADE की सिफ़ारिशें

1. हमेशा एक ही समयावधि का प्रयोग करें।

2.एक ट्रेड पर अपने खाते के बैलेंस की 5% से कम राशि लगाएँ।

3. ट्रेडिंग में फ़िक्स्ड राशि लगाने का प्रयास करें।

आपको चार्ट का प्रयोग करना और ट्रेडिंग में अच्छे अवसर पहचानना सीखने में अधिक समय नहीं लगेगा।

गुड लक!

Click here to get this post in PDF