बाइनरी ऑप्शंस पिछले कुछ वर्षों से काफी लोकप्रिय हो गए हैं – एक अच्छे कारण से।

ये उन लोगों को ट्रेडिंग व्यापार का हिस्सा बनाने का अवसर देते हैं जिनकी पहुंची परम्परागत ट्रेडिंग तक नहीं है, चाहे उनका अनुभव स्तर कुछ भी हो।

वास्तव में, हर दिन दुनिया में और भी अधिक लोग ट्रेडिंग करने का निर्णय ले रहे हैं

चूंकि बाइनरी ऑप्शंस समझने में आसान हैं, इसलिए यह कई लोगों के लिए विभिन्न आस्तियों में ट्रेड कर पैसे कमाने का जरिया खोल देती हैं।

लेकिन जोखिम सदैव ही जीवन का हिस्सा होता है, और आपको स्वयं से पूछना होगा कि जोखिम को कम से कम रखकर आप बाइनरी ऑप्शंस से पैसे कैसे कमाएंगे?

 

वास्तविकता में, ऐसा कोई जादुई मंत्र नहीं है जो आपको बाइनरी ऑप्शंस से बहुत सारा मुनाफ़ा कमा कर दे।

लेकिन, अनुभवी ट्रेडरों की ये कुछ सलाहों अगर आप ध्यान में रखने तो ये आप को लंबी दौड़ में बहुत सहायक होंगी!

अपने लिए उपयुक्त आस्ति चुनें 

बाइनरी ब्रोकर के साथ पहली बार साइन अप करते समय, आप ध्यान रखें कि आपको एक विश्वसनीय और भरोसेमंद ढूँढना चाहिए जो आपको चुनने और निवेश करने के लिए कई सारी आस्तियों के विकल्प दे।

लेकिन, अगर आपके पास पहले से ही किसी क्षेत्र विशेष का अनुभव है, या आप बाइनरी ट्रेडिंग पर रिसर्च किसी विशेष आस्ति के लिए ही कर रहे थे तो अपना ध्यान वहीं केन्द्रित रखें।

मान लीजिए कि आप नए हैं, और प्लैटफॉर्म चुनने से पहले आपने कमोडिटी बाइनरी ट्रेडिंग के बारे में थोड़ी रिसर्च की है।

हो सकता है आपके पास इन आस्तियों में ट्रेड करने का व्यावहारिक अनुभव न हो, लेकिन आप अवश्य ही आधारभूत बातें जान चुकें है जो आपके बहुत काम आएंगी जब आप निवेश करना शुरू करेंगे।

ब्रोकर चुनने से पहले, यह ज़रूर जांच लें कि वह आपको वे आस्तियां उपलब्ध कराएगा भी या नहीं जिनके बारे में आपने रिसर्च किया है।

 

बोनस का फ़ायदा उठाए

आजकल बहुत सारे ब्रोकर  नए आने वालों को वेलकम बोनस दे रहे हैं।

वेलकम बोनस ज़्यादातर उस राशि पर निर्भर करता है जो नया उपयोगकर्ता अपने खाते में जमा कर रहा है। लेकिन आप इस तरह सोचकर देखें: हर ऑनलाइन बाइनरी ऑप्शंस ब्रोकर वेलकम बोनस में नए उपयोगकर्ता एक निश्चित राशि देता है।

लेकिन क्या होगा अगर आप केवल एक ब्रोकर के साथ साइन अप करने के बजाए कई ब्रोकरों के साथ साइन अप करने का निर्णय लेते हैं और भावी निवेश राशि को उनमें बांटना चाहते हैं?

तो इस तरह से आप केवल एक ब्रोकर से बोनस का लाभ नहीं ले रहे बल्कि कई ब्रोकरों से बोनस का लाभ ले रहे हैं!

सिद्धान्त सीखें

निश्चित ही, बाइनरी ऑप्शंस समझने में बहुत ही आसान लगते हैं, लेकिन वास्तव में और भी बहुत कुछ है। हर बाइनरी ऑप्शन के पीछे परिवर्तनीय कारकों की एक जटिल प्रणाली है जो हो सकता है आपको पूरी तरह न पता हो।

जरा सोचें – आप स्टॉक्स, सूचकांकों, फॉरेक्स और कमोडिटी में निवेश कर रहे हैं जिनकी कीमतों में लगातार बदलाव हो रहे हैं।

और, चीजें आपके द्वारा चुनी गई समाप्ति अवधि पर बहुत ज़्यादा निर्भर करती हैं और बहुत सी चीजें बादल सकती हैं चाहे आपकी समाप्ति अवधि केवल 60 सेकंड ही क्यों न हो।

हो सकता है आप न समझ सकें कि ये पूरी प्रणाली कैसे काम करती है, लेकिन आप निश्चित ही आधारभूत बातें समझ सकते हैं, जैसे अलग-अलग बाइनरी ऑप्शंस के प्रकार, जोखिम कारक और डायग्राम पढ़ना।

इस कहानी के पीछे की कहानी का परिचय पाकर आप अधिक विवेकपूर्ण चयन कर पाएंगे।

 

समय के साथ सीखते रहें

बाइनरी ब्रोकर आम तौर पर चार आस्तियां कमोडिटीज़, मुद्राएँ, सूचकांक और स्टॉक ऑफर करते हैं। विशेषज्ञों और अनुभवी ट्रेडरों के अनुसार, जिन आस्तियों के बारे में आप आसानी से सही अनुमान लगा सकते हैं वे कमोडिटी हैं जबकि अनुमान लगाने के लिए सबसे ज़्यादा अस्थिर आस्ति सूचकांक हैं।

कमोडिटी में निवेश करते समय आम चलन है कि कीमतें बढ़ेंगी – जो कि ज़्यादातर मामलों में सही है।

ऐसा समग्र आर्थिक स्थिति के कारण है, जो कमोडिटीज़ की कीमतों को बढ़ाती है और कीमतें बढ़ता प्रत्याशित होता है। दूसरी ओर, सूचकांकों की कीमतें बहुत ज़्यादा नहीं बदलतीं।

वास्तव में, इनकी कीमते हर समय बदलती रहती हैं, लेकिन ये बदलाव बहुत छोटे और अप्रत्याशित होते हैं।

सूचकांकों की कीमतें बढ़ सकती हैं और एक बहुत ही कम समयावधि में अचानक नीचे गिर सकती हैं जिससे अनुमान लगाना बहुत मुश्किल हो जाता है।

नए ट्रेडरों को हमेश अधिक प्रत्याशित आस्ति के साथ शुरुआत करनी चाहिए और समय के साथ सीखना चाहिए।

इस तरह, वे आवश्यक अनुभव लेते रहेंगे और यद्यपि वे शुरुआत में बहुत अधिक नहीं कमा पाएंगे लेकिन महत्वपूर्ण बात यह है कि वे कुछ खो भी नहीं रहे हैं!

बाइनरी ट्रेडिंग की दुनिया का हिस्सा बनाना आपकी व्यक्तिगत और व्यावसायिक सफलता की ओर एक बहुत बड़ा कदम है।

 

यह बात साफ है कि हर शुरुआत कठिन होती है लेकिन ध्यान रखें कि ज्ञान अनुभवों से ही मिलता है, जल्द ही अपनी खुद की ट्रेडिंग स्टाइल का विकास कर लेंगे और अधीन आत्मविश्वासी हो जाएंगे।

बाइनरी ऑप्शंस से पैसे कमाना कई लोगों के लिए एक वास्तविकता है – आप उनसे पैसे क्यों नहीं कमा सकते ऐसा कोई कारण नहीं है! शुरू करने से पहले अच्छी तरह तैयारी करें, वरीयता प्राप्त ब्रोकर चुने। और गुड लक!

बाइनरी ऑप्शंस ट्रेडिंग के बारे में अधिक जानें:

Click here to get this post in PDF